मनरेगा में करोड़ों के घोटाले किए जा रहे हैं।

उत्तर प्रदेश : महोदय जहाँ मनरेगा मे करोड़ो का घोटाला जनपद के एक एक ब्लाक मे मील रहा है वही राज्य वित्त चौदहवां तेरहवां वित्त से मिलने वाले धन का भी तो जाँच करवा कर देखीये क्यो उसमे तो केवल निकासी की जाती है फर्जी कार्य दिखाकरएक उदाहरण के तौर पर जनपद महराजगंज का एक ब्लाक सिसवा को ही ले लीजिए इस ब्लाक सिसवा नगर पालिका बनने के पहले लगभग अस्सी ग्राम पँचायत था हर ग्राम पंचायत मे प्रतिवर्ष यह इण्डिया मार्का हैंड पाइप के रीबोर के नाम दर्जन भर पाईप के लिए प्रति पाईप रीबोर के लिए लगभग तीस हजार का भुगतान किया जाता है जिसमे इण्डिया मार्का हैण्ड पाईप को उखाड़ कर 120फिट नया पाईप लोहे का लगाया दिखाया जाता है जब की नया न लगाकर उखाड़े हुए पुराने पाईप को ही 120फिट के स्थान पर मात्र 60से 70फिट बोर करके बचे पुराने पाईप को बेंच देते है जब की यह शासन का विभागीय कार्य है की रिकार्ड के लिए जो दुबारा रीबोर दिखाया जाता है । जितना फुट लोहे का नया पाईप लगाया गया है उसका पुराना लोहे का पाईप स्टोर होना चाहिए जिससे पता चल सके कितना पुराने पाईप निकाला गया और कितना नया लगा लेकिन किसी भी ब्लाक मे न तो स्टोर किया गया और न ही कही रखा गया है जिससे साफ है सबूत को ही समाप्त कर दिया गया है। यह केवल नया का दिखावा करके पुराना ही लगाकर नये का भुगतान लिया गया है आखिर मे किसके आदेश पर पुराने समान का स्टोर नही किया गया ।और इस तरह से हर वर्ष प्रति ग्राम पंचायत मे दर्जन भर उक्त हैण्ड पाईप के प्रति हैण्ड पाईप के नाम पर तीस हजार रुपया और एक ग्राम पंचायत मे से प्रतिवर्ष एक दर्जन के हिसाब से तीन लाख साठ हजार हुया और पूरा सिसवा ब्लाक का ग्राम पँचायत ले लिया जाय पूरा एक साल मे दो करोड़ अठ्ठासी लाख हो रहा है और जनपद महराजगंज के बारह ब्लाक जोड़ दिया जाय तो प्रति वर्ष पच्चीसो करोड़ लगभग हो रहा है मात्र पांच वर्ष ले लिया जाय तो सवा दो अरब रुपया हो रहा है मात्र एक योजना का अगर इसके बदले मे पुराना माल स्टोर नही है तो पूरा पूरा भ्रष्टाचार ही माना जायेगा इसके सम्बन्ध आर टी आई के माध्यम से नये लोहे के पाईप जगह जो पुराना पाईप कहा कितने मात्रा मे जनपद के सिसवा ब्लाक मे स्टोर किया गया है इसके सम्बन्ध हमारे द्वारा जिला पंचायत राज अधिकारी जनपद महराजगंज से लगायत प्रथम अपीली अधिकारी पंचायती राज उप निदेशक गोरखपुर मण्डल गोरखपुर से प्रथम दीत्तीय तृतीय पत्र देकर मांग की गयी लेकिन सूचना की प्रति आज तक उपलब्ध नही कराया गया सबसे बड़ी बात यह है की जब स्टोर होगा तब न उपलब्ध कराएंगे विश्वस्त सूत्रो से ज्ञात हुया की कही स्टोर किया नही गया है सूचना की प्रति देगें कैसे। जिसकी उच्चस्तरीय जाँच कराने पर मात्र एक योजना से पांच साल मे अरबो रुपये का भ्रष्टाचार सामने आयेगा विनोद तिवारी सदस्य उत्तर प्रदेश काँग्रेस कमेटी मोबाईल नम्बर 8948884898हैI

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *