पुलिस और प्रेस में नहीं होने के बावजूद भी गाडिय़ों की नेम प्लेट पर लिखवा लेते

उत्तर प्रदेश: बदायूं जिले में कई वाहन ऐसे हैं। जिन पर पुलिस और प्रेस लिखा होता है। ऐसे कई वाहन चालक होंगे जो फर्जी तरीके से गाडिय़ों पर पुलिस या प्रेस लिखवा लेते हैं। जबकि दूर-दूर तक इससे वास्ता नहीं होता है। फिर जब कोई इनके वाहनों पर कार्रवाई करता है तो ये धौंस देते नजर आते हैं।इस तरह के चालकों पर सख्त कार्रवाई होना चाहिए जो गाडिय़ों पर गलत तरीके से पुलिस और प्रेस लिखवा लेते हैं।
हाल ही में अभी इलाहाबाद हाईकोर्ट ने इस मामले में निर्देश जारी कर कहा है।कि अब यदि कोई व्यक्ति फर्जी तरीके से अपने वाहन पर प्रेस या पुलिस लिखवाएगा। तो उसके खिलाफ 420 के तहत कार्रवाई होगी।

मुख्यमंत्री आवास योजना ग्रामीण लाभार्थियों का गृह प्रवेश, चाभी वितरण किया
सहसवान में अक्सर वाहनों की नेम प्लेट पर कई लोग पुलिस और प्रेस लिखवा लेते है। जब कभी वाहनों की चेकिंग होती है। तो ये वाहन चालक पुलिस और प्रेस लिखवाकर गाडिय़ों को अपना बताकर ट्रैफिस पुलिस से बहस भी करते है।जबकि दूर-दूर तक इनका न तो पुलिस से कोई संबंध होता है।और न ही प्रेस लिखी गाड़ी से इनका कोई सरोकार होता है। यह तो सिर्फ धौंस जमाने के लिए लिखवा लेते हैं।

व्यापारी की शिकायत पर एसपी ने दरोगा को किया लाइन हाजिर

कई लोगों ने कारो पर प्रेस लिखवा लिया है। कई लोग पैसे देकर भी प्रेस का कार्ड बनवा लेते हैं। ऐसे लोगों पर भी कार्रवाई होना चाहिए। पुलिस प्रशासन को भी इन पर सख्ती से कार्रवाई करना चाहिए। ताकि ऐसे फर्जी लोग जिनका परिवार में न तो कोई पुलिस वाला होता है। और न ही प्रेस वाले से कोई संंबंध होता है। पुलिस प्रशासन को यह भी पता करना चाहिए कि गाड़ी पर यदि पुलिस या प्रेस लिखा है। तो वह सही में वहां काम करता भी है। या नहीं कि सिर्फ ऐसे ही लिखवा लिया है।इलाहाबाद हाईकोर्ट ने दिए हैं निर्देश : इलाहाबाद हाईकोर्ट ने एक निर्देश और साथ ही कहा है कि अब यदि कोई व्यक्ति फर्जी तरीके से अपने वाहन पर प्रेस या पुलिस लिखवाएगा, तो उसके खिलाफ 420 धारा के तहत कार्रवाई होगी। निर्देश में कहा गया है कि वाहन पर प्रेस लिखवाने वाले व्यक्ति से पत्रकारिता से संबंधित जानकारी भी पूछी जा सकती है।

पिपरा मुंडेर गांव में 500 लोगों को लगा वैक्सिन

पैसे देकर प्रेस कार्ड बनवाने वाले व्यक्ति को जुर्माने के साथ ही कैद भी हो सकती है। इसके अलावा वाहन को भी जब्त किया जा सकता है। देखना यह है कि सहसवान पुलिस प्रशासन फर्जी तरीके से नेम प्लेट पर प्रेस पुलिस लिखवा कर नगर में व शहरों में घूम रहे हैं। इन फर्जी लोगों पर पुलिस प्रशासन कार्रवाई करता है। या नहीं यह तो आने वाला वक्त तय करेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *