दिव्यांग जनों से पूर्वांचल ग्रामीण बैंक के बैंक मैनेजर ने मांगी माफ़ी

दिव्यांग जनों से पूर्वांचल ग्रामीण बैंक के बैंक मैनेजर ने मांगी माफ़ी

अमित कुमार गुप्ता / संवाददाता

हृदय नारायण मिश्रा जो कि बैंक मैनेजर पद पर हैं अपने पद को ले मतवाल हाथी बने गुरूर में चूर घमंड में मगरूर बैंक मैनेजर!! *घमंड टुटते दिव्यांग खाता धारक से अमर्यादित व्यवहार के लिए दिव्यांगों से मांगी माफी।*

आज दिनांक 16 नवंबर 2021 को पूर्वांचल बैंक विशुनपुर कलां के बैंक मैनेजर हृदयनारायण मिश्रा के खिलाफ विरोध प्रदर्शन हुआ 55 फीसदी दिव्यांग अभिषेक कुशवाहा लोन के लिए मैनेजर साहब से जानकारी लेने बैंक गए थे।
बैंक मैनेजर हृदय नारायण मिश्रा ने *दिव्यांग अभिषेक कुशवाहा और राष्ट्रीय दिव्यांग सहायता समिति के प्रदेश अध्यक्ष राकेश चौबे जी के साथ दिव्यांगता को लेकर अभद्र भाषा व अमर्यादित शब्दों का प्रयोग करने लगे…* जिससे राष्ट्रीय दिव्यांग सहायता समिति के सभी सदस्य काफी आक्रोशित थे।
समिति के सदस्यों ने सुबह 10 बजे बिसलपुर कला बैंक का घेराव किया व मैनेजर के अभद्रताबक खिलाफ नारेबाजी शुरू कर दी।
सभी दिव्यांग बैंक मैनेजर के इस व्यहार से आहत थे और काफी आक्रोशित थे। उनकी उग्रता को देखते हुए बरियारपुर थाने के थाना अध्यक्ष श्री जितेंद्र यादव जी तत्काल मौके पर पहुचें।
मामले की गंभीरता को देखते हुए सराहनीय कार्य दिव्यांग जनों के साथ हुए यैसे व्यवहार को देखते थानाध्यक्ष
महोदय ने तुरंत कार्यवाही करते हुए बैंक मैनेजर हृदयनारायण मिश्रा से जवाब मांगा।
वहीं राष्ट्रीय दिव्यांग सहायता समिति के सभी पदाधिकारी बैंक मैनेजर के द्वारा माफी मांगने व तुरन्त प्रसासनिक कार्वाही पर अड़े हुए थे।
*दिव्यांगों के रोष को देखते हुए बैंक मैनेजर हृदयनारायण मिश्रा ने अपनी गलती स्वीकार की और प्रदेश अध्यक्ष राकेश चौबे जी से और वहाँ मौजूद दिव्यांग जनों से अपनी गलती के लिए हाथ जोड़कर माफी भी मांगी तथा भविष्य में किसी भी दिव्यांग व्यक्ति के साथ सही वर्ताव करने का वचन भी दिया। वहाँ मौजूद प्रदेश अध्यक्ष जी, जिला कार्यकारिणी के सदस्य मौजूद रहें..
इसमें जिलाध्यक्ष सच्चिदानंद वर्मा के साथ डॉ सलीम खान (hightake डेंटल क्लीनिक देवरिया), समाज सेवी पंकज सिन्हा का काफी योगदान रहा।
जहाँ इस आंदोलन में बृजेश यादव, चंद्रकांत मिश्रा, आबिद अंसारी, राजन कुमार, राजेन्द्र कुमार, शंकर गुप्ता तथा काफी संख्या में दिव्यांग उपस्थित रहें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *