कोरोना महामारी के बीच जनपद में मिला ब्लैक फंगस का एक संदिग्ध मरीज, मेडिकल कॉलेज रेफर

महराजगंज: देश अभी कोरोना महामारी से उभरा भी नही है कि इसी बीच ब्लैक फंगस ने तबाही मचाना शुरू कर दिया है। जहां एक तरफ कोरोना संक्रमण से लोग मर रहे हैं। वहीं दूसरी तरफ ब्लैक फंगस ने भी लोगों की जान लेना शुरू कर दिया है। देश के कई राज्यों में ब्लैक फंगस के मरीज मिल चुके हैं। राजस्थान राज्य ने तो इसे महामारी भी घोषित कर दिया है। तमाम राज्यों में पैर पसारने के बाद ब्लैक फंगस ने अब महराजगंज में भी दस्तक दे दिया है। लोग डरे और सहमे हुए हैं। बता दें कि परतावल क्षेत्र के रामपुर चकिया गांव में ब्लैक फंगस का एक संदिग्ध मरीज पाया गया हैं। जिसे अब मेडिकल कॉलेज में भर्ती करा दिया गया है। ग्रामीणों की मानें तो एक युवक अप्रैल के महीने में पच्चीस तारीख को गुजरात से घर के लिए निकला। रास्ते में आते वक़्त उसके सिर में अचानक दर्द शुरू हो गया और आंख से धुंधला दिखाई देना लगा। दर्द के छटपटाहट में वह किसी तरह गोरखपुर पहुंचा। उसे लेने गए परिजनों ने जब यह सुना उसे तत्काल एक आंख के डॉक्टर को पास ले गए। फ़िर उसे बीआरडी मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया। वहाँ जांच होने के बाद उसे लखनऊ रेफर कर दिया गया। जहाँ उसका कोरोना जांच हुआ और उसका रिपोर्ट पॉजिटिव आया। परिजन उसे लेकर वापस आ गए और बुधवार को उसे लेकर महराजगंज जिला अस्पताल के इमरजेंसी वार्ड में पहुंचे। इमरजेंसी में इलाज कर रहे डॉक्टरों ने कोरोना रिपोर्ट के अनुसार उसे कोविड वार्ड में भर्ती कराने की सलाह दी। लेकिन मरीज को भर्ती न कराकर परिजन उसे घर लेकर चले गए। इसके बाद गुरुवार यानी बीस मई को परतावल सीएचसी के अधीक्षक डॉ. दुर्गेश सिंह, खण्ड विकास अधिकारी प्रवीण शुक्ला और थाना प्रभारी सुनील कुमार राय मरीज के घर पहुंचे और एम्बुलेंस से उसे मेडिकल कॉलेज गोरखपुर भेज दिया। अधीक्षक डॉ. दुर्गेश सिंह ने बताया कि युवक ब्लैक फंगस का संदिग्ध है। जिसे इलाज के लिए बीआरडी मेडिकल कॉलेज में भर्ती करा दिया गया है। जिससे ब्लैक फंगस से ज्यादे से ज्यादे रोका जा सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *