मुख्तार की सुरक्षा व्यवस्था और बढ़ेगी लगेंगे सीसी कैमरे

बादा उत्तर प्रदेश: मंडल कारागार में कथित राजसी माहौल में बंदी कैदी जीवन गुजार रहें डान मुख्तार की सुरक्षा और बढ़ाई जायेगी ताकि परिंदा पर न मार सके!चित्रकूट जेल में दो अपराधियों की हत्या और एक को मुठभेड़ में मारे जाने के बाद मंडल कारागार बांदा में माफिया डान विधायक मुख्तार अंसारी की सुरक्षा और बढ़ा दी गई है। खासतौर पर यहां माफिया मुख्तार अंसारी को लेकर अधिकारी संजीदगी बरत रहे। मुख्तार को 44 कैमरों की निगरानी में रखा गया है, लेकिन जेल प्रशासन इसे कम मान रहा है। उसे अब 50 कैमरों की नजर में रख जाएगा। इसके लिए लखनऊ स्थित निदेशालय से छह और सीसीटीवी कैमरे मांगे गए हैं।
जिले मऊ मे गैंगस्टर माफिया मुख्तार अंसारी को सात अप्रैल को पंजाब की रूपनगर जेल से बादा मंडल कारागार स्थानातरित किया गया था। 14 मई को चित्रकूट जेल में बंदी अंशु ने दो बंदियों की हत्या कर दी। बाद में पुलिस ने उसे भी मुठभेड़ में मार दिया था। मृतक बंदी का जुड़ाव मुख्तार से होने को लेकर अधिकारियों ने यहा माफिया की निगरानी बढ़ा दी है। सुरक्षा के खास इंतजाम किए गए हैं। इसमें 38 सीसीटीवी कैमरों के साथ पाच बॉडी वॉर्न कैमरे व एक ड्रोन कैमरे से निगरानी तो हो ही रही है, बंदीरक्षकों के अलावा अलग से पीएसी का जेल के अंदर और बाहर दोनों जगह पहरा है। इसके बाद भी जेल प्रशासन को जेल का सबसे आंतरिक परिसर व बैरकों के हाते में भी और कैमरों की कमी लग रही है। जिसके चलते छह सीसीटीवी कैमरों की कमी बताकर जेल प्रशासन ने लखनऊ निदेशालय से माग की है। जिसमें उन्होंने बताया कि माफिया की सुरक्षा में मुख्य चक्र समेत बैरक के हातों के कैमरे निकालकर माफिया के ईद-गिर्द लगाए गए हैं। इससे इन महत्तवपूर्ण स्थानों पर सीसीटीवी कैमरे लगाए जाने की आवश्यकता है। अभी उनके पास करीब 44 कैमरे हैं। छह कैमरे और आ जाने से सुरक्षा व्यवस्था बेहतर हो जाएगी। जेल में सोमवार को माफिया समेत 987 बंदी कैदी निरुद्ध हैं। इनमें 42 महिला कैदी भी शामिल हैं।
जेल प्रभारी अरुण कुमार सिंह कहते हैं की उच्च अधिकारियों से जेल के लिए छह कैमरों की और माग की गई है। जल्द ही कैमरे उपलब्ध हो जाएंगे जो जेल के महत्वपूर्ण स्थानों पर लगाए जाएंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *