देश को मिलने वाला है कोरोना का नया दवा एक ही गोली से कोरोना भागेगा

नई दिल्ली: भारत में कोरोना की लड़ाई में देश को एक नया सफलता मिल रहा है। एक गोली जो कोरोना के मरीजों को दी जाएगी जिससे उनके अस्पताल में भर्ती होने पर मौत के खतरे कम करेगा। जिससे कोरोना के मध्यम लक्षण वाले मरीजों को इलाज के लिए मर्क की एंटीवायरल दवा मोलनुपिरवीर की बहुत कम दिनों में ही इसे इमरजेंसी इस्तेमाल के लिए मंजूरी दे दी जाएगी।
कोविड स्ट्रैटजी ग्रुप, सीएसआईआर के अध्यक्ष डॉ० राम विश्वकर्मा द्वारा बताया है कि यह दवा उन व्यस्कों के लिए है जिसमे कोरोना के गंभीर लक्षण होंगे या फिर जिनको अस्पताल में भर्ती होने पर खतरा होगा। (Covid-19) कोविड स्ट्रैटजी ग्रुप, सीएसआईआर के अध्यक्ष डॉ० राम विश्वकर्मा प्रेषवार्ता से अपनी बातचीत में बताया फाइजर की गोली पैक्सलोविड में अभी भी कुछ समय और लग सकता है। साथ ही उन्होंने बताया दो दवाओं के आने से भारत मे काफी असर पड़ेगी। उन्होंने यह भी बताया यह महामारी से लडऩे में टीकाकरण से ज्यादा असरदार होंगी। उन्होंने बताया लगता है मोलमनुपिरवीर बहुत जल्द ही उपलब्ध कराया जाएगा। जिसमे पांच कंपनीया है जो दवा निर्माण के कार्य एक साथ मिलकर कर रही हैं। ऐसे में कभी भी इसे इस्तेमाल करने की मंजूरी दी जा सकती है।
फाजिर ने अपने एक बयान में कहा उनकी दवा पैक्सलोविड कमजोर मरीजों को अस्पताल में भर्ती होने या मौत के जोखिम को 89 प्रतिशत तक कम करेगी। और मर्क ने पहले ही पांच कंपनियों से कॉन्ट्रैक्ट कर लिया है और जिस तरह से मर्क ने कई कंपनियों को लाइसेंस भी दे दिया है। साथ ही फाइजर भी ऐसा करेगा क्योंकि फाइजर को उपयोग के लिए आवश्यक दवाओं के निर्माण के लिए भारतीय क्षमता का उपयोग करना होगा। क्यों कि सबसे अधिक दवा का उत्पादन भारत ही करता है। भारत मे दवा उत्पादन कि बड़ी – बड़ी कंपनी है। इसीलिए फाइज़र भी भारत को ही देगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *