ठीकेदार की लापरवाही व मनमानी की खामियाजा आज ग्रामीण भुगत रहे है

महराजगंज : भारत नेपाल बॉर्डर स्थित ठूठीबारी कस्बा जहां कुछ वर्ष पूर्व ही बाई पास व मुख्य सड़क निर्माण को हरी झंडी मिली थी वो सड़क निर्माण के लिए सम्बंधित ठीकेदार को 6 माह का समय जारी किया था। लेकिन बिगत 2 साल बीतने के बाद भी आज सड़क अधूरी है ठीकेदार की लापरवाही व मनमानी की खामियाजा आज ग्रामीण भुगत रहे है जहां सरकार कोरोना को देखते हुए साफ सफाई व ग्रामीण क्षेत्र में संक्रमण को रोकने के लिए विशेष सुविधाओ की बात कर रही है वही ठीकेदार द्वारा बनाया गया अधूरा नाली जिसमे पानी का बहाव न होने के कारण पानी दूषित व संक्रमित हो गया है और अब वही संक्रमित पानी बिगत 2 दिनों से हो रही धीमी-धीमी गति की वर्षांत के कारण नाली उफान मारती हुई लोगो के घरों में भी घुसने लगी है। लोगों को काफी परेशानी झेलनी पड़ रही है वही संक्रमण होने का खतरा भी बना हुआ है। नहीं अभी तक नाली निर्माण पूर्ण हो पाया है ना उस पर पटरी लग पाया है कहीं-कहीं तो अधूरा नाली छोड़ दिया गया बीच में जिससे व्यापारी परेशान होकर अपने स्वयं नाली निर्माण कराया आपको बता दें कि केदार जयसवाल ने एवं नाली निर्माण कराया अपने दरवाजे के सामने अभी भी उसके बगल में अधूरा नाली निर्माण है ग्रामीणों के अनुसार मण्डलायुक्त जयंत नर्लिकर अपने दौरे के समय सम्बंधित ठीकेदार को कार्य पूर्ति के लिए फरवरी माह तक का समय निर्देशित किया था इसके बावजूद ठीकेदार की मनमानी की वजह से अब तक निर्माण कार्य पूर्ण नहीं हो पाया है जिसके कारण ग्रामीणों में रोष है। ग्रामीणों का जिलाधिकारी से आग्रह है कि जांच कर दोषियों पर कार्यवाही का निर्देश दिया जाय।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *