‘यास’ ने तोड़े 121 वर्ष पुराना रिकार्ड, रविवार से मौसम साफ रहने की उम्मीद

गोरखपुर: पहले अरब सागर के चक्रवाती तूफान ‘टाक्टे’ और फिर बंगाल के चक्रवाती तूफान ‘यास’ ने मई को पूरी तरह बारिश के पानी से सराबोर कर दिया है। इसके चलते मई में मौसम से जुड़े रिकार्डों की झड़ी लग गई है। शनिवार की सुबह तक इस महीने में 351 मिलीमीटर बारिश हो चुकी है, जो मौसम विभाग में मौजूद 121 वर्षों के रिकार्ड में सर्वाधिक है।

बारिश का यह आंकड़ा बहुत ही अधिक है, इसका अंदाजा मई में होने वाली बारिश के औसत आंकड़े से लगाया जा सकता है। इस महीने का औसत आंकड़ा महज 45 मिलीमीटर है। ऐसे में अगर औसत आंकड़े से इस मई के आकड़ों की तुलना करें तो अब तक औसत से करीब आठ गुना अधिक बारिश रिकार्ड की जा चुकी है जबकि महीने में अभी तीन दिन शेष हैं।
शुक्रवार को गोरखपुर का अधिकतम तापमान 24 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया। प्राप्त आंकड़ों से अगर बीते वर्षों में मई के अधिकतम तापमान की तुलना करें तो बीते 78 वर्षों में यह आंकड़ा हमें कभी नहीं मिला था। ऐसा इसलिए कि 78 वर्ष में मई का यह सबसे कम न्यूनतम तापमान है। पूरे मई में औसत अधिकतम तापमान की बात करें तो यह 38 डिग्री सेल्सियस है जबकि इस बार यह 31 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच चुका है। इसके चलते ही इस बार मई में लोगों को उस तरह गर्मी का अहसास नहीं हुआ, जब कि मई महीना बहुत ही गर्म जाना जाता है।

बादलों के साए में है पूर्वांचल, और भी हो सकती है बारिश

‘यास’ के चलते गुरुवार की दोपहर से शुरू हुआ बारिश का सिलसिला रुक-रुक कर शनिवार को सुबह तक बारिश जारी रहा । गुरुवार और शुक्रवार को तो पूरी रात रिमझिम बारिश का सिलसिला चलता रहा। गुरुवार से अब तक 132 मिलीमीटर से अधिक बारिश रिकार्ड की जा चुकी है। बीते 24 घंटों की बात करें तो 77 मिलीमीटर बारिश हुई है। मौसम विशेषज्ञ कैलाश पांडेय के अनुसार आगे भी हल्की से मध्यम बारिश का पूर्वानुमान है। रविवार से मौसम साफ होने की उम्मीद बन रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *